Off-Page SEO Techniques 2020 in Hindi

आज हम आप Off Page Seo  के बारे में पूरी जानकारी बताने जा रहा हु। Off Page Seo  बहुत ही महत्वपूर्ण Work होता है।  अगर आप ये नहीं जानते है तो आप अपनी वेबसाइट को आसानी से रैंक नहीं करवा सकते है।

इस Article में आप को सभी जानकारी मिलेगा Off Page Seo   के बारे में।

  1. Backlinks
  2. Social signals
  3. E-A-T
  4. Branded searches
  5. Online reputation signals
  6. Lots more

Off-Page Seo (What is in Hindi)

वो सभी कार्य जो किसी भी वेबसाइट को Search Engine  में  Rank करवाने के लिए उस website से बहार किया जाता है उसे Off -Page Seo कहा जाता है।  इसमें link building  एक बहुत ही इम्पोर्टेन्ट पार्ट है।

Off-Page Seo

 

 

Off-Page SEO क्या करता है


Search Engine हमेसा   सर्च अल्गोरिथम को change करते है टाइम to टाइम। अल्गोरिथम  चेंज करने की जरुरत इस लिए परती है ता की  relevance को बनाये रखरे। Backlink की हेल्प से गूगल ये जान पता है की वेबसाइट कितना ट्रस्ट वर्दी है। 


चलिए आप को इस एक्साम्पल बताते है। Off Page Seo कैसे काम करता है। 


मान ली जिए आप ने गूगल में सर्च करते है। आप का सर्च कीवर्ड “computer in hindi “ है। तो आप  के सामने कुछ निचे के इमेज की तरह रिजल्ट आते है। 

Off-Page SEO क्या है

ऊपर के रिजल्ट  में हम देख सकते है। जिस पेज के पास ज्यादा Quality बैकलिंक है उसका रैंक पहले है। जिसके पास नहीं है उसका रैंक बाद में है।  

Back Link कितने टाइप के होते है ?


जब बात आती है बैकलिंक की तो हम ये नहीं समझ पते है की Do Follow बनाये या No  Follow . किस बैकलिंक को गूगल रैंकिंग फैक्टर के तोर पर उसे करते है। और किसी भी वेबसाइट के कंटेंट को रैंक करने के लिए कितने बैक लिंक की जरुरत पर सकती है। 


सबसे पहले समझते है की Do Follow  एवं No  Follow  में क्या अंतर होता है। 


Do Follow :-  ये एसा लिंक होता है।  जिसको सर्च इंजन SEo के लिए काउंट करता है। अगर आप के पेज का Do  Follow बैक लिंक ज्यादा है। ज्यादा chance है की आप की पोस्ट जल्दी गूगल पर रैंक कर सकती है। Do  Follow link बनते समय ये हमेसा याद रखे की 

  • वेबसाइट रिलेटिव होना चाहिए 
  • वेबसाइट का DA एवं PA  High हो। 
  • हमेसा टारगेट keyword को Anchor taxe में उसे करे। 
  • Guest पोस्ट का लिंक ज्यादा इम्पोर्टेन्ट होता है। 
  • कमेंट से ज्यादा Do  Follow लिंक ना बनाय।

No  Follow  :- इसका मतलब ये होता है की सर्च इंजन ये समझते है की आप इस लिंक को फॉलो करने के लिए मना किये है। इसका ज्यादा इम्पोर्टेन्ट नहीं होता है seo में। अगर आप ने अपने वेबसाइट पर ज्यादा No  Follow   लिंक बनते हो तो आप की वेबसाइट की स्पैम स्कोर बढ़ जाता है। 

Back link कैसे बनाये 


बैक लिंक हम सभी जानते है की वेबसाइट के रैंकिंग में बहुत ही इम्पोर्टेन्ट रोले निभाते है। अब हम आप को बताने वाले है की आप अपने वेबसाइट के लिए कैसे बैकलिंक बना सकते है। 


इस आर्टिकल में जितने भी method बताया जा रहा है। वो मेरा पर्सनल एक्सप्रिएंस है जिसको आप के साथ में share कर रहा हु। 


वैसे तो बैक लिंक बनाने के बहुत सरे Method है। but आप को ध्यान रखने वाली बात ये है की आप किस method का उपयोग कर रहे है। 


#guest पोस्ट के द्वारा :- आप सभी को पता ही होगा की। आज कल सबसे अच्छा तरीका ये बैक लिंक बनाने का। इसमें हमें ऐसे वेबसाइट को find करना है। जो की guest पोस्ट accept करता हो। फिर अपने वेबसाइट के category के अनुसार एक अच्छा सा पोस्ट लिख कर सबमिट करना है। अगर आप का आर्टिकल अच्छा हुआ तो उस वेबसाइट से आप को एक बैक लिंक मिल जायेगा