Meta Tags in SEO – Hindi में All Detail

क्या आप के मन में भी ये सवाल आते है ?

  • Meta  Tags  का काम क्या होता है?
  •  इसका क्या काम है ?
  • हमें इसे क्यों यूज़ करना चाहिए।

 अगर आप के मन में भी ये प्रश्न आते है। आप को ये आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए। 

इस पोस्ट में  हम आप को Meta Tags और  Meta Description के बारे में पूरी डिटेल से बताने जा रहे है। सबसे पहले आप को ये जानना जरुरी है की  इसका यूज़ कहा होता है।

Meta Tags एवं Meta Description का यूज़ One Page Seo   में होता है। One page Seo के बारे में ज्यादा जानने के लिए निचे के लिन्क पर क्लिक करे।

Meta Tags in SEO is most important Meta  Tags  का यूज़ कहाँ किया जाता है ?

Meta Tags का यूज़ किसी भी वेबसाइट के  <Meta > Tag के अंदर किया जाता है। <Meta > Tag वेबसाइट के <Head > Section में  यूज़ किया जाता है। निचे दिए गए  HTML कोड को ध्यान से देखे और समझने की कोसिस करे की  Meta Deta  का क्या -क्या Use होता है।

<head>

<meta charset=”UTF-8″>

<meta name=”description” content=”Meta Tags in SEO”>

<meta name=”keywords” content=”Meta Tags,Meta Tags in SEO”>

<meta name=”author” content=”Keyword Hindi>

<meta name=”viewport” content=”width=device-width, initial-scale=1.0″>

</head>

ऊपर के कोड को देख कर हम ये कह सकते है की ये वेबसाइट के बारे में अधिक जानकारी देता है।

  • Page Discription के लिए
  • Bolg या Website के कीवर्ड को Indicate करने के लिए
  • Wbsite के Author को Indicate करने के लिए।
  • लास्ट टाइम आप ने कब अपडेट किया पोस्ट उसे बताने के लिए।

Meta Description kya hai और इसका Use है?


Meta Description सर्च Engine  द्वारा Web पेज से सेलेक्ट किया गया वो छोटा सा इनफार्मेशन होता है। जिसे गूगल SERP पर यूजर को दिखता है। उस information को देख कर यूजर को ये समझ आ जाता है की। उसके Question का डिटेल Information किस पर क्लिक करने के बाद मिल जायेगा।

जैसे अगर हम गूगल में “India Gate” सर्च करेंगे तो मेरे सामने निचे की इमेज की तरह रिजल्ट आते है। निचे की इमेज में जिसको रेड कलर से घेरा गया है उसे Meta Discription  कहा जाता है। इसी Description को पढ़ने के बाद हम ये समझते है की ये वेबसाइट हमें “India Gate “के बारे में बताएगी।

Website की Seo अच्छी करने के लिए हमें अच्छे से Meta  Description  लिखना चाहिए। हाला की Google  हल ही में ये  डिक्लेअर किया है की वो हमेसा Meta Description का उसे नहीं करते है  SERP के लिए।

कुछ समय Google  खुद ही Decided करता है की website या पेज का Meta Description क्या होगा। और वो उसी को SERP में दिखता है।

Meta Tags  कितनी तरह के होते हैं ?


वैसे तो सर्च इंजन Meta Tags  का को रीड करता है। सर्च इंजन के लिए ही हम Meta Tags का उसे करते है। ता की Google  ये समझ सके की Bolg या Post  किस टॉपिक के बारे में है।

Meta Tags  को और अच्छे से समझने के लिए आप गूगल के इस पोस्ट को जरूर पढ़े। जिसमे गूगल टीम के द्वाराMeta Tags एवं Meta Description एक्सप्लेन किया गया।

ऐसे खास टैग जिन्हें Google समझता है.

इस यूट्यूब video में। गूगल के द्वारा क्लियर किया गया है की। Meta Tags एवं Meta Description का क्या important है SEO में। मै आप से Request करूंगा की आप इस video को एक बार जरूर देखे।

vidoes को देखने के लिए क्लिक करे 

Meta Tags को तो वैसे बहुत सरे type होते है। लेकिन हम इस पोस्ट में उसी Meta Tags के बारे में बताएंगे जो की SEO के लिए यूज़ किया जाता है। SEO के लिए समान्य त्या गूगल के द्वारा।

4 Type के Meta Tags का यूज़ किया जाता है।

  • Title
  •  description
  •  Robots
  •  Keywords

अब इन सभी को डिटेल पे जानेगे

01 . Title  tag


Title किसी पेज या ब्लॉग का नाम होता। जिसकी Help से हम पेज या ब्लॉग को find करते है। Seo के लिए किसी भी ब्लॉग या पेज का  Title Unic और clickable  होना चाहिए।

Title tag का यूज़ हमेसा  HTML डॉक्यूमेंट के <HEAD> सेक्शन के अंडर <Title> में किया क=जाता है। एक्साम्पल के लिए मै निचे HTML  CODE को देखे।

 <html>

  <head>

      <titleMeta Tags in SEO – Hindi में </title>

  </head>

</html>

अब आप को  One page Seo एवं  Off page Seo  के title tag को optimize करना होगा। जिसे आप बहुत ही आसानी से कर सकते है। आप को बस इतना ध्यान रखना है की आप के ब्लॉग या पेज का Title में निचे के पॉइंट को चेक करना है की ये सरे point है या नहीं।

  • First वर्ड कीवर्ड होना चाहिए।
  • short और अट्रैक्टिव होना चाहिए , ता की ज्यादा से ज्यादा क्लिक मिल सके।
  • आप के कंटेंट को शार्ट में describe करता हो।
  • हरेक पेज और पोस्ट का title Unic होना चाहिए।

02 . description tag


हम सभी ने ऊपर पढ़ा है की  Meta description  ब्लॉग या पेज के बारे में सर्च इंजन को शार्ट में बताता है की

वेबसाइट या ब्लॉग का कंटेंट क्या है।

Meta description को लिखते समय हमें ये हमेसा ध्यान देना चाहिए की। Meta description कंटेंट को अच्छी तरह से describe  करता हो। अगर हम Meta description को ब्लॉग के कंटेंट के अकॉर्डिंग नहीं लिखेंगे हो। यूजर वेबसाइट पर तो आ जायेंगे लेकिन बहुत जल्द एग्जिट भी कर देंगे।

अगर Visiter जल्दी एग्जिट करते है वेबसाइट से तो। सर्च इंजन ये समज जाते है की आप के वेबसाइट या पेज  informative नहीं है की यूजर की जानकारी को पूरा कर सके। उस  Senior में आप के वेबसाइट का रैंकिंग घाट जाती है।

Bounce rate :- किसी भी visiter  के द्वारा वेबसाइट से quick विजिट करके एग्जिट करने के Ratio को Bounce rate कहते है।  आप अपने वेबसाइट के  Bounce rate को निचे के टेबल से तुलना करे। 


किसी भी मेटा Meta description को Seo के लिए कैसे  optimize ?

इसका सिंपल और सीधा जबा है।  गूगल के नियमो के अनुसार अपने ब्लॉग या पेज का Meta description लिखना।   आप अपने ब्लॉग के Meta description को लिखते समय ये पॉइंट हमेसा याद रखे।

  • Meta description में वर्ड की सख्या 160  होना चाहिए।
  • आप के Focus कीवर्ड कम- से -कम  2 से 3 बार आना चाहिए।
  • जो भी description हो वो ब्लॉग पोस्ट के contant को पूरी तरह discribe करता हो।
  • अट्रैक्टिव और सटीक होना चाहिए जिससे विज़िटर ज्यादा क्लिक करे।

3.  Robots Tag


HTML के इस tag के द्वारा हम Search Engine  को ये बताते है की। वेबसाइट के किस पेज या पोस्ट को Search Engine के द्वारा SERP दिखाया जायेगा और किसको नहीं दिखाया जायेगा।

सबसे पहले हम ये समझते है की  वेबसाइट में इस टैग का कहा यूज़ किया जाता है। इसे समझने के लिए निचे के code को देखे

 <head>


  <meta name=”Robots Tag content=”index,follow>


</head>

 Index  :-  किसी भी पेज या ब्लॉग पोस्ट को index करने की मंजूरी देता है Search Engine . इसकी हेल्प से                        Search Engine ये समझ पता है किस पर्टिकुलर पेज को रैंक करना है।

No Index :- ये Search Engine को बताता है की web पेज या ब्लॉग को Index नहीं करना है।

Follow :- इसके द्वारा Search Engine ये समझा जाता है की वेबसाइट के किस लिंक को फॉलो करना है क्रॉलिंग के द्वारान।

No Follow  :- इससे Search Engine ये समझता है किस लिंक को क्रॉलिंग के द्वारान इग्नोर करना है।

04 Keywords tag


2020 में अब SEO के लिए Meta Keywords tag का उतना इम्पोर्टेन्ट नहीं रहा है।  हल ही में गूगल ने डेक्लेर किया था की अब वो इसे  ज्यादा तर इग्नोर करते है। 

  • Google सबसे पहले कंटेंट को क्रोलिंग करता है। 
  • क्रोलिंग के बाद उस कंटेंट का कीवर्ड तय करता है।
  • फिर कॉन्टेंट को रेंक करता है